Principal Message

प्राचार्य की कलम से.....

होनहार युवा साथियों,

आपके वर्तमान एवं उज्जवल भविष्य के लिए अपनी बात रखते हुए शासकीय नवीन महाविद्यालय, जैजैपुर, जिला जांजगीर-चांपा (छ.ग.) में प्रवेश लेने हेतु आप सभी को अग्रिम बधाई एवं ढेर सारी शुभकामनाएं ...

महाविद्यालय अपने स्थापना के 9वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है । इस महाविद्यालय की स्थापना वर्ष 2007 में हुई थी । तब से लेकर आज तक महाविद्यालय की उत्तरोत्तर प्रगति हो रही है । ग्रामीण दूरस्थ अंचल का यह महाविद्यालय होनहार युवा छात्र/छात्राओं की आकांक्षाओं और आशाओं को पूर्ण करने के साथ ही उनके सर्वांगीण विकास के सहचरी बनें, महाविद्यालयीन परिवार सदैव आपके साथ है।

युवा साथियों, उच्च शिक्षा की गुणवत्ता आपके द्वारा मन में दृढ़ संकल्प लिये हुये सपनों को साकार करने में सहायक होता है । आप अपने घर परिवार, ईष्ट मित्रों, सगे संबंधियों और समाज को साथ लेकर उनकी मर्यादाओं और आदर्शों को ध्यान में रखकर उच्च शिक्षा अध्ययन के लिए महाविद्यालय में प्रवेश लेते हैं । यह वह समय होता है जब आप कई तरह के अभावों, परेशानियों का सामना करते हुए स्वास्थ्य का ध्यान रखकर अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए क्रमशः विद्याध्ययन में लगे रहते है ।

युवा साथियों, महाविद्यालय में प्रवेश लेने का यह अर्थ कदापि नहीं होता कि आप अपने माता-पिता की आकांक्षाओं, उनकी संकल्पनाओं को चूर-चूर कर, मौज-मस्ती में लत होकर अपने उद्देश्यों से भटककर, अपने मलाईदार समय को नष्ट करते चलें, साथ ही अपने बहुमूल्य जीवन से अलग होकर जिन्दगी भर समाज में ठोकरे खाते रहें । अतः आप हमेशा सावधान हें, सतर्क हें, चौकन्ना हे क्योंकि एक पल में आप अपने उद्देश्य से भटक सकते हैं।

दोस्तों, यह हमेशा ध्यान में रखने योग्य है कि दूरस्थ, ग्रामीण आंचल के महाविद्यालय में प्रवेश लेने का अर्थ है कि हम विभिन्न अभावों में भी संघर्ष करते हुए उच्च शिक्षा की ऊंचाईयों को उच्च से उच्च अंक प्राप्त कर अपने लक्ष्यों को साकार कर अपने जीवन को एक आयाम देंगे तथा अपने माता-पिता, घर-परिवार की स्थितियों को मजबूत कर समाज सेवा के लिए एक अच्छे इंसान के रूप में उनके सामने मुखातिब होंगें ।

इस विवरणिका के माध्यम से आपको महाविद्यालय एवं शासन के द्वारा निर्देशित उन सभी प्रकार के जानकारियां उपलब्ध कराई जा रही है, जिन्हें आप भलीभांति अध्ययन कर महाविद्यालय के नियमों, आवश्यक निर्देशों, अनुशासन एवं गतिविधियों को समझकर एक सफल महाविद्यालयीन छात्र के रूप में आप अपने कैरियर का निर्माण करेंगें, अपने भविष्य को उज्जवल करेंगें तथा अपने परिवार, ग्राम, समाज व देश को नई ऊर्जा व शक्ति के साथ दिशा देने में सफल होंगें ।

शुभकामनाएं ... ।


DR. P. D. MAHANT

प्राचार्य

(शासकीय नवीन महाविद्यालय जैजैपुर)