COLLEGE AT A GLANCE

शासकीय नवीन महाविद्यालय जैजैपुर अपने स्थापना के 9 वें वर्ष में प्रवेश करने जा रहा है । इस महाविद्यालय की स्थापना वर्ष 2007 में छत्तीसगढ़ राज्य शासन द्वारा आरंभ की गई । अपने स्थापना के दिनों में महाविद्यालय में अध्ययन करने वाले छात्र/छात्राओं ने अनेक संघर्ष किये हैं। आरंभ में यह महाविद्यालय शासकीय कन्या स्कूल एवं शासकीय बॉयज स्कूल जैजैपुर में संचालित होता रहा ।
आज महाविद्यालय के पास स्वयं का नया भवन है । इस भवन में महाविद्यालय वर्ष 2010 से लगना प्रारंभ हुआ । आज महाविद्यालय के पास स्वयं के भवन के साथ-साथ खेल परिसर, उद्यानिकी, सायकल स्टैण्ड इत्यादि संसाधन उपलब्ध है । छात्र/छात्राओं एवं महाविद्यालय में आने वाले सभी लोगों को आवागमन के साधन, सड़क की पीड़ा हमेशा शालती रही है लेकिन इस वर्ष 2015 में इस क्षेत्र के माननीय लोकप्रिय युवा विधायक श्री केशव प्रसाद चन्द्रा जी, प्रभारी मंत्री माननीय अमर अग्रवाल एवं वर्तमान कलेक्टर ओ.पी.चौधरी के अथक प्रयास से इस कमी को दूर कर लिया गया है।
सत्र 2014-15 में इस महाविद्यालय में छात्र-छात्राओं की कुल संख्या 640 की जो 2013-14 की तुलना में 100 अधिक है। 2014-15 में महाविद्यालय में एम.ए. अंतिम हिन्दी में लगभग 90 विद्यार्थी नियमित एवं स्वाध्यायी रूप में परीक्षा दिया जो एक नई उपलब्धि
इस महाविद्यालय के वर्ष भर की उपलब्धियों में छात्र/छात्राओं ने राष्ट्रीय स्तर के एन.एस.एस. कैम्प में भाग लेकर बी.ए.अंतिम के छात्र श्री धनंजय कंवर महाविद्यालय का नाम रोशन किया है । एन.एस.एस. की राज्य स्तर कैम्प में दुर्ग में इस महाविद्यालय के 2 छात्र गुलाब सिंह चन्द्रा एवं सूरज लहरे बी.ए. द्वितीय वर्ष ने भाग लिया है । इस वर्ष बी.एस.सी. भाग-3 एवं बी.ए. भाग-3 में कई छात्र/छात्राओं ने प्रथम श्रेणी अंक लेकर उत्तीर्ण किया ।
साहित्यिक सांस्कृतिक गतिविधि में इस महाविद्यालय के छात्र/छात्राओं ने क्विज प्रतियोगिता अन्तरमहाविद्यालयन स्तर में प्रथम एवं जिला स्तर में द्वितीय स्थान प्राप्त किया | इसमें उमेश कुमार बी.एस.सी. अंतिम वर्ष, अंजली चिंद्रोले बी.एस.सी.प्रथम वर्ष एवं अमित कुमार बी.एस.सी. प्रथम वर्ष का नाम उल्लेखनीय है।
| परीक्षा परिणाम के क्षेत्र में इस महाविद्यालय ने विश्वविद्यालयीन परीक्षा में कीर्तिमान स्थापित किया है। पी.जी.डी.सी.ए. की परीक्षा 2013-14 में महाविद्यालय ने विश्वविद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त किया वहीं प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्र श्री योगेश कुमार कुरे का नाम सम्मान सहित लिया जा रहा है । बी.एस.सी. प्रथम वर्ष की परीक्षा में विश्वविद्यालय में प्रथम पोजीशन बनाकर सुश्री रोशनी पाण्डले ने 79 प्रतिशत अंक अर्जित किया एवं महाविद्यालय का नाम रोशन किया |
| इस वर्ष लगभग 10 वर्ष के बाद छात्रसंघ का चुनाव महाविद्यालय में छ.ग.उच्च शिक्षा विभाग छ.ग.शासन ने कराया जिसमें अध्यक्ष श्री रामकुमार चन्द्रा बी.ए. अंतिम वर्ष, उपाध्यक्ष नरेन्द्र चन्द्रा, बी.कॉम. द्वितीय वर्ष, सचिव आकाश देवांगन एम.ए.अंतिम (हिन्दी), नीलिमा चन्द्रा बी.एस.सी. द्वितीय वर्ष ने विजय श्री प्राप्त कर महाविद्यालय का नाम रोशन किया है ।छात्र संघ ने क्लीन कॉलेज, ग्रीन कॉलेज के रुप में महाविद्यालय एवं परिसर की सफाई कराकर एक नई पहचान महाविद्यालय को दी है । वही रा.से.यो. ने एकदिवसतीय शिविर जैजैपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में लगाकर स्वच्छा संबंधी महत्वपूर्ण कार्य किया है । इसी कड़ी में विश्वविद्यालय की रा.से.यो. इकाई द्वारा स्वच्छता अभियान जन जागरूकता कार्यक्रम में बिलासपुर से चैतुरगढ़ (लाफागढ़) पदयात्रा में इस महाविद्यालय के प्रो. पी.डी. महंत ने भाग लेकर महाविद्यालय का नाम रोशन किया | जन जागरूकता पदयात्रा में इस महाविद्यालय के छात्रों के साथ महाविद्यालय के प्राचार्या डॉ. आर.बी. सोनवानी ने जांजगीर से दमऊधारा तक की पदयात्रा कर महाविद्यालय का नाम रोशन किया । इस महाविद्यालय में लगभग 3 प्रोफेसरों डॉ. आर.सोनवानी, डॉ. पी.डी. महंत एवं प्रो. तिलक राम आदित्य ने राष्ट्रीय सेमीनार ''सीपत” महाविद्यालय में भाग लेकर उच्च शिक्षा की गुणवत्ता की एक कड़ी में महत्वपूर्ण योगदान दिया । इस महाविद्यालय के प्रो. पी.डी.महंत ने पीलीभीत, महाराष्ट्र एवं मध्य प्रदेश में 3 अंतर्राष्ट्रीय सेमीनार में भाग लिया तथा 2014-15 में डॉ. महंत ने 02 किताबे पहला हिन्दी उपन्यासों में भारतीय संस्कृति एवं तुलसीदास का दार्शनिक विवेचन किताबे लिखकर महाविद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है।